क्या हुआ था धुरी यादव के मौत से पहले, आ गया बड़ा ख़बर, अजय सिंह ने बताया दैनिक भास्कर को


मैंने शाम को 5.39 बजे धूरी यादव को फोन किया था। उन्होंने सबौर मेस वाले के यहां काली पूजा का बकाया चार हजार चंदा लेने की बात कही थी। भोला सिंह के घर से निकलकर हम दोनों बाइक से सबौर मेस वाले के यहां पहुंचे। लेकिन उस समय मेस संचालक नहीं मिला। इस कारण, बिना चंदा लिये हमलोग वापस जाने लगे। रास्ते में गिरीश भगत के घर के पास पहुंचे तो धूरी ने बाइक रोका अौर कहा कि मेस संचालक का मोबाइल नंबर लेकर अाअो।

 

बाइक रुकते ही पहले से खेत में घात लगाए दो बदमाशों ने गाली दी अौर फिर गोली चलाने लगे। मेरे सामने ही धूरी को दो गोली मारी गई। वारदात के बाद दो शूटर सराय रोड की अोर पैदल भाग निकले। गोली लगने से बाइक समेत धूरी यादव सड़क पर गिर गए। यह देख मैं घबरा गया अौर दौड़ कर मोहल्ले में अाया। लोगों को घटना के बारे में जानकारी दी। तब अासपास के लोग जमा हो गए अौर धूरी को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी मौत हो गई। किसी शूटर को नहीं पहचानते हैं। हत्या के कारण की भी जानकारी नहीं है।

जैसा कि चश्मदीद अजय सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया


Like it? Share with your friends!

-2

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्या हुआ था धुरी यादव के मौत से पहले, आ गया बड़ा ख़बर, अजय सिंह ने बताया दैनिक भास्कर को

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in