Media कोर्स बिहार में नामांकन शुरू, पहले 40 BJMC जर्नलिस्ट को मिलेगा पढ़ाई के साथ काम और कमाई का मौक़ा


अगर आप बिहार से हैं और मीडिया जगत में रुचि रखते हैं तो आपके लिए सबसे ज़रूरी ख़बर आ गयी हैं. AKHAND INDIA समूह नए जर्नलिस्ट समूह तैयार करने के उदेशय से बिहार में मात्र 40 सीटों पर आवेदन आमंत्रित किए हैं. इन सीटो पर नामांकन का मक़सद सिर्फ़ एक सही दिशा में काम करने वाले और टेक्नॉलजी से सबसे अपडेटेड जर्नलिस्ट समूह तैयार करना हैं.

 

कैसे करें अप्लाई: आप इस 40 सीटों के लिए http://www.sikshaportal.com/application-eligibility/  पर क्लिक कर अप्लाई कर सकते हैं.

 

जानिए क्यू हैं ख़ास ये 40 सीटें.

  • इन सीटों पर नामांकित छात्र/छात्राओं को पहले सत्र से ही पढ़ाई के साथ साथ मीडिया जगत के साथ असल में काम करने का मौक़ा मिलेगा.
  • काम के साथ साथ विधार्थियों को स्टाइपंड के रूप में पैसे भी मिलेंगे
  • विधार्थियों के साथ Facebook/Youtube जैसे नए ऑनलाइन मीडिया चैनल के साथ अपना चैनेल बनाने और ख़ुद संचालन करने के लिए Facebook और Youtube एक्स्पर्ट प्रोजेक्ट भी शुरू करने का मौक़ा मिलेगा.
  • Student Credit Card योजना के अंतर्गत इस बाबत राज्य सरकार से भी कोर्स शुल्क मुहैया कराया जाएगा

 

View this post on Instagram

Welcome to new media cader.

A post shared by Lov Singh (@nyabihar) on

 

जर्नलिज्म कोर्स के महत्वपूर्ण फील्ड: 

प्रिंट जर्नलिज्म: यह पत्रकारिता का सबसे पुराना फील्ड है जो भारत में अभी भी लोकप्रिय है. देश के कई भाषाओं में प्रिंट जर्नलिज्म के मौके उपलब्ध हैं. प्रिंट में मुख्य रूप से मैग्जीन, अखबार के लिए काम कर सकते हैं.

 

इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म: इलेक्ट्रॉनिक जर्नलिज्म पत्रकारिता को अक्षरों की दुनिया से निकालकर विजुअल की दुनिया में ले आया. ऑडियो, वीडियो, टीवी, रेडियो के माध्यम से यह दूर-दराज के क्षेत्र में भी लोकप्रिय होने लगा. टीवी सैटेलाइट, केबल सर्विस और नई तकनीकों के माध्यम से पत्रकारिता का यह सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बन चुका है.

 

वेब पत्रकारिता: पत्रकारिता के इस प्लेटफॉर्म ने रीडर, विजिटर्स को फीडबैक की सुविधा दी, यानी आप न्यूज मेकर से सीधे सवाल पूछ सकते हैं. स्मार्ट फोन के आ जाने से यह दिनप्रतिदिन आगे बढ़ रही है. पत्रकारिता के भविष्य के रूप में इस माध्यम को स्थापित किया जा रहा है.

 

पब्लिक रिलेशन: यह क्षेत्र पत्रकारिता से थोड़ा हटकर है, जर्नलिज्म की पढ़ाई के दैरान इसे भी पढ़ाया जाता है. किसी व्यक्ति, संस्थान की छवि को लोगों की नजर में सकारात्मक रुप से प्रस्तुत करना पब्लिक रिलेशन में आता है. पब्लिक रिलेशन का कोर्स करने के बाद बिजनेस हाउसेज, पॉलिटिकल पर्सन, सेलेब्रेटी और संस्थानों के लिए काम किया जाता है.

 

 

कैसे करें अप्लाई: आप इस 40 सीटों के लिए http://www.sikshaportal.com/application-eligibility/  पर क्लिक कर अप्लाई कर सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

-1

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Media कोर्स बिहार में नामांकन शुरू, पहले 40 BJMC जर्नलिस्ट को मिलेगा पढ़ाई के साथ काम और कमाई का मौक़ा

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in