भागलपुर में ख़रीददारी करने निकल रहे हैं तो ध्यान दे, हर दुकान पर तराज़ू और इलेक्ट्रोनिक तराजू दोनो से तौलना है ज़रूरी

अगर दुकानदार तराजू के साथ बांट नहीं रखा तो कार्रवाई तय है। तराजू के साथ बांट रखना आवश्यक है। 

तराजू के साथ बांट नहीं रखने वाले कई दुकानदारों पर हाल के दिनों में कार्रवाई हुई है। माप-तौल अधिकारी अजय कुमार ने बताया कि इलेक्ट्रोनिक तराजू से कई दुकानदार ग्राहकों को ठग रहे हैं। जानकारी अभाव में ग्राहक ठगे जा रहे हैं। उन्हें यह पता नहीं है कि वे दुकानदार के तराजू की जांच कर सकते हैं। अगर हम इलेक्ट्रोनिक तराजू से एक किलो सामान खरीदते हैं और हमको शक होता है कि सामान कम है तो हम दुकानदार से बांट मांगेंगे। बाट तराजू पर रखकर कंफर्म हो जाएंगे कि हमें कम सामान मिला है या नहीं। कम सामान देने वाले दुकानदार पर कार्रवाई की जाएगी।

 

तीन कारोबारी के यहां छापेमारी

तराजू की जांच नहीं कराने वाले 22 दुकानदारों पर मापतौल विभाग ने कार्रवाई की है। विभाग की ओर से सोना-चांदी के तीन कारोबारी के यहां छापेमारी की गई। इन दुकानदारों ने तराजू का वेरीफिकेशन नहीं कराया था। बर्त्तन के दो दुकानदारों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। इसके अलावा छड़-सीमेंट, मिठाई, खाद-बीज और गैस एजेंसी के विरुद्ध कार्रवाई हुई है। मापतौल अधिकारी अजय कुमार ने बताया कि इलेक्ट्रोनिक तराजू और कांटा का वेरीफिकेशन नहीं कराने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि लगातार दुकानों में जाकर तराजू की जांच की जा रही है। गलत पाए जाने पर जुर्माना किया जा रहा है।

 

 

पैक्स के तराजू की चल रही जांच

धान की खरीद के पूर्व पैक्स के तराजू की जांच चल रही है। 109 पैक्स की सूची जिला सहकारिता विभाग द्वारा मापतौल विभाग को उपलब्ध कराया गया है। 22 पैक्स के तराजू का सत्यापन अभी तक हो चुका है। शेष पैक्स के तराजू का सत्यापन किया जा रहा है। तराजू की जांच नहीं कराने वाले 22 दुकानदारों पर हुई कार्रवाई कम सामान देने वाले दुकानदारों पर कसेका शिकंजा

By MyBhagalpur. COM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *