भागलपुर में अब नए तौर से बनेगा ड्राइविंग लाइसेन्स, पटना के जैसे तिलकमाँझी में होगा Driving Track

पटना की तर्ज पर अब स्मार्ट सिटी भागलपुर में अत्याधुनिक ड्राय¨वग टे¨स्टग ट्रैक का निर्माण होगा। परिवहन विभाग ने ड्राय¨वग टे¨स्टग ट्रैक के निर्माण के लिए जगह चिह्नित कर लिया है। तिलकामांझी में 75 लाख की लागत से ड्राय¨वग टे¨स्टग ट्रैक का निर्माण कराया जाएगा।

 

जिला परिवहन पदाधिकारी फिरोज अख्तर ने बताया कि Driving Test Track के निर्माण के लिए प्रस्ताव बना कर मुख्यालय भेजा जा रहा है। मुख्यालय से राशि का आवंटन होते ही निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। अत्याधुनिक ड्राय¨वग टेस्ट ट्रैक के निर्माण के बाद कैमरे की निगरानी में ड्राय¨वग लाइसेंस के इच्छुक अभ्यर्थियों की जांच की जाएगी। अभी तक एमवीआइ मैनुअल तरीके से आवेदकों को वाहन चलाते देख परीक्षण करते हैं। इसके बाद लाइसेंस देने या नहीं देने का निर्णय लिया जाता है।

 

अत्याधुनिक Testing Track में कई खासियत होगी।

जो Driving लाइसेंस की प्रक्रिया को आसान बनाएगी। ट्रैक पर डिवाइडर, जेब्रा क्रासिंग, सिग्नल, स्पीडी नियंत्रण बोर्ड आदि लगे रहेंगे। ट्रैक पर कैमरा और सेंसर भी लगा रहेगा। ऐसे में ड्राय¨वग लाइसेंस के लिए जांच में उपस्थिति होने वाले अभ्यर्थी की हर गतिविधि की सूक्ष्म निगरानी की जाएगी। जांच के दौरान अभ्यर्थी के वाहन चलाने के हर तरीके का अध्ययन कर उसके आधार पर अंक दिए जाएंगे। सफलता पूर्वक पार करने वाले को दिया जाएगा लाइसेन्स माना जाएगा टेस्ट में पास.

By Lov Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *