बिहार से उत्तर प्रदेश और ओडिशा के लिए 28 रूटों पर नई बसें चलाई जाएंगी। राज्य परिवहन प्राधिकार के द्वारा परमिट स्वीकृति के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। वाहन स्वामियों को परमिट के लिए आनलाइन आवेदन 24 जुलाई तक, जबकि आफलाइन आवेदन परिवहन विभाग के कार्यालय में 25 जुलाई तक जमा करने को कहा गया है। परमिट की स्वीकृति के लिए तीन अगस्त को विश्वेश्वरैया भवन में राज्य परिवहन प्राधिकार की बैठक होगी।

बिहार से उत्तर प्रदेश के बीच 30 रूट चिह्नित किए गए हैं। इनमें सात रूटों पर पर्याप्त बसें चल रही हैं। बिहार-यूपी के बीच 23 रूटों पर बसों की रिक्तियां हैं। इनमें पटना से बलिया के लिए सर्वाधिक 14 और पटना-वाराणसी के लिए सर्वाधिक आठ बसें चलाई जाएंगी। इसके अलावा देवरिया-पटना के लिए सात, गया-सारनाथ के बीच पांच, अलीनगर-डेहरी के बीच तीन, लखनऊ-गया और वाराणसी से गया के बीच दो-दो नई बसें चलाने का प्रस्ताव है। इसके अलावा पांच रूट निजी संचालन के लिए चिह्नित हुए हैं।

 

ओडिशा के लिए पांच नई बसें 

बिहार से ओडिसा के लिए पांच रूटों पर पांच नई बसें चलाने का प्रस्ताव है।

  • पटना से रायरंगपुर,
  • बिहारशरीफ से बारीपारा,
  • बिहारशरीफ से रायरंगपुर,
  • दरभंगा से रायरंगपुर और
  • भागलपुर से राउरकेला

बता दें कि इसके पहले बिहार से उत्तर प्रदेश के लिए बसें चल रही हैं। इससे यात्रियों को काफी सुविधा हो रही है। इसके साथ अभी कुछ रूट ऐसे में हैं जहां के लिए डायरेक्ट बस नहीं है। नए रूट में पटना-वाराणसी के लिए सर्वाधिक आठ बसें चलाई जाएंगी।

I talk on bhagalpur Local news, National views, Interestfull reviews and interviews. Email [email protected]

Leave a comment