गुंडा बैंक मामले में आयकर विभाग ने छापेमारी के दौरान जब्त कैश, लॉकर में मिले जेवरात व अन्य सामान व जमीन के कागजातों का मिलान किया। साथ ही संबंधित लोगों का बयान भी दर्ज किया है। आयकर विभाग की टीम पिछले दो दिनों में शहर व सुल्तानगंज में जब्त किये गए सामान की सूची का मिलान किया। शुक्रवार सुबह 4 बजे यह काम खत्म हुआ।

 

राजेश वर्मा और क़रीबियों का ज़ब्त सामान

टीम ने पूर्व डिप्टी मेयर राजेश वर्मा, उनके करीबी राकेश शर्मा और सुल्तानगंज के शिवम चौधरी के घर एवं प्रतिष्ठानों से जब्त किए गए सामानों का मिलान किया है। शिवम चौधरी के यहां आयकर की टीम फिर जाएगी।

 

2 दिन तक हुआ मिलान

आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि छापेमारी के दौरान मिले कैश, जमीन के दस्तावेज, बैंक लॉकर, सोना-चांदी एवं अन्य सामान के मिलान का काम दो दिनों तक चला। अब हर व्यक्ति से जुड़े सामान की अप्रेजल रिपोर्ट तैय की जाएगी। इसी रिपोर्ट के आधार पर यह तय होगा कि किस व्यक्ति ने कितने का लेनदेन किया है। अगर किसी ने टैक्स चोरी की है तो उसी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी। जानकारी के अनुसार राजेश वर्मा के पिता हरिओम वर्मा, भाई विष्णु वर्मा एवं परिवार के अन्य सदस्यों का बयान भी दर्ज किया।

I talk on bhagalpur Local news, National views, Interestfull reviews and interviews. Email [email protected]

Leave a comment